Saturday, 9 February 2013

रोटी बोलती है



हाँ 
भूख,
भी प्रेम का,
पर्यायवाची है ...

और 
मूक,
भी प्रेम का,
समानार्थी है ....

अच्छा,
सच सच बताना,
क्या रोटी से आपने कहा है,
कि आपको रोटी से बहुत प्रेम है,
या आप रोटी के बिना जी ही नहीं सकते......

या क्या रोटी,
आपसे कभी कुछ बोलती है ?? 
~अज़ीम