Thursday, 7 February 2013

भटकाव


मैंने कहा,
रास्ते भर साथ निभाना ...

तुमने कहा,
तुम मेरी मंजिल हो .......

देखा आपने,
हम मंजिलों के साथ,
रास्तो पर,
भटक रहे है ................
~अज़ीम